Udaariyaan 30th November 2021 written update: Jasmin, Fateh Leave For Canada

Udaariyaan 30th November 2021 written update

Udaariyaan 30th November 2021 written update, written Episode On Bollyjagat.in

Watch Udaariyaan full episode in voot

Udaariyaan 30th November full episode written update सीरियल उदारियाँ के आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि जैस्मिन अपने कमरे याने की तेजो के कमरे में होती है और कहती है कि फाइनली ये कमरा मेरा हो गया भले ही एक रात के लिए लेकिन मैं और फतेह तो यही सोएंगे ना आखिरकार मैंने तेजो को इस कमरे से निकाल ही दिया इस कमरे को पाने के लिए मैंने पता नहीं क्या कुछ नहीं किया और उसके बाद जैसमिन तेजो को परेशान करने वाली बात याद करती है और फिर कहती है चलो जो कुछ भी हुआ अब कमरा तो मेरा ही है फतेह आने ही वाला होगा मैं जल्दी से तैयार हो जाती हूं

और उसके बाद जैस्मिन आईने के पास जाती है तभी आईने में उसे तेजो की बिंदी दिखाई देती है तभी जैस्मिन को गुस्सा आता है और जमीन कहती है यार इस तेजो ने तो कहीं भी मेरा पीछा नहीं छोड़ा है यहां भी इसकी बिंदी दिखाई दे रही है और फिर गुस्से में जैस्मिन बिंदी को निकालने लगती है। और फतेह को देखकर जैस्मिन फतेह से कहती है कि ये हमारा कमरा है, मैं बहुत खुश हूँ। तभी फतेह मुस्कुराते हुए जैस्मीन से पूछता है कि अब तो तुम खुश हो ना अब कोई शिकायत नहीं है ना जैस्मिन कहती हां पति तुमने मेरे सारे सपने पूरे कर दिए तभी फतेह कहता है

हां मैंने तुम्हारे सारे सपने पूरे कर दिए आप मुझसे कुछ मत कहना तभी जैस्मिन कहती है और अगर मैं कुछ कहूं तो और फिर इतना कहकर जैस्मिन बेड की तरफ इशारा करती है और तभी फतेह बात को घुमा देता है और कहता है कि कल से हमारा नया जीवन शुरू होने जा रहा है हमारी फ्लाइट भी तो सुबह की है तो हमें आराम करनी चाहिए पर अभी सोएंगे तभी तो सुबह उठ पाएंगे वैसे भी यह कमरा हमारा नहीं है हम अपने नए जीवन की शुरुआत यहां से नहीं करेंगे मैं चाहता हूं कि मैं अपना जीवन का शुरुआत कनाडा से ही करूंगा

अब हम कल कनाडा में होंगे वैसे भी तुम्हें कल सरप्राइस भी तो मिलेगा जैस्मिन कहते हैं ठीक है कितने दिन मैंने इंतजार किया तो 1 दिन और कर लूंगी उसमें क्या है तभी फतेह कहता है हां ठीक है तुम जाओ सो जाओ मैं भी जा रहा हूं सोने के लिए और इतना कहकर फतेह वहां से निकल जाता है। फतेह कमरे से बाहर आता है और तेजो को याद करता है। और उसके साथ बिताए हुए पलों को भी याद करता है वही दे जो भी उदास बैठी होती है और फतेह के बारे में सोच रही होती है दोनों ही बहुत ही ज्यादा इमोशनल होते हैं

और दोनों एक दूसरे के बारे में सोच रहे होते हैं जहां फतेह रोता हुआ अपने हाथों को देखता है और पंडित जी की बातों को याद करता है जहां पंडित ने उसे बताया था कि आपके हाथों में दो प्रेमिकाओं के बीच फसने का रेखा है तो वहीं तेजो भी पंडित जी की बातों को याद करती है कि पंडित जी ने उसे कहा था कि दोनों बहनों की लकीर एक ही जगह पर खींची गई है ये सब याद करके तेजो फूट-फूटकर रोती है। तभी रुपी तेजो पास आते हैं और देखते हैं कि तेजो अपने हाथ को देख रही होती है

तभी रुपए तेजो से पूछते हैं तुम क्या देख रही होते जो कहती है मेरी किस्मत तभी रूपी कहते हैं तेरे हाथ में तू हम सब के लिए जी रही थी अब तू अपने लिए जिएगी और उसके बाद रुपी तेजो को गले लगाते हैं और तभी तेजू कहती हैं मैं अपने लिए कैसे ले सकती हूं पापा मैंने आज तक अपने परिवार के लिए जिया है तुम्हें अपने बारे में कैसे सोचो तभी रूपी पूछते हैं कि कब तक तुम हमारे लिए अपने सपनों की कुर्बानी दोगी सब कुछ भूल जाओ और एक नई जिंदगी की शुरुआत करो तभी एक बार फिर से भेजो खाते के बारे में सोचने लगती है

और रोने लगती है वही फतेह घर आता है और तेजो को याद करता है अपने परिवार की तस्वीरों को देखता है और साथ ही साथ ट्रॉफी को देखता होते जो के बारे में सोचता है और उसके बाद फते गुरप्रीत और खुशवीर के कमरे के पास से गुजरता है तो उन्हें बात करते हुए सुनता है गुरप्रीत रोती है और कहती है कि मैंने फतेह के लिए स्वेटर बनाया था मुझे नहीं पता था कि वो इतनी जल्दी चला जाएगा, और गुरप्रीत खुशवीर से कहती है कि मुझे डर है कि कहीं मैं उसे खो ना दूं फतेह के बारे में सोच कर कुछ वीर को भी बुरा लगता है

और खुशवीर कहते हैं अब तुम उसके बारे में बात करना बंद कर दो अब हमारा सिर्फ एक ही बेटा है फतेह वहां से रोता है और रो कर बिजी के कमरे के बाहर जाता है बिजी भी रोते हुए फतेह के बारे में ही बात कर रही होती हैं वहां पर जाकर फतेह और भी ज्यादा इमोशनल हो जाता है अगली सुबह, फतेह और जैस्मीन दोनों साथ में बाहर आते हैं। तभी जैस्मिन देखती है कि बाहर बैंड बाजे वाले आए हुए थे हैं तभी जजमेंट फतेह से पूछती है

कि क्या यह मेरा सरप्राइस है पति कुछ नहीं बोलते हैं तभी जैस्मीन कहती है कि वह हां स्वीटी को मैंने फोन किया था और उसके बाद जैस्मिन वहां पर जाकर नाचने लगती है हते अमरीक और माही को गले से लगाता है और अंग्रेज से अपनी मम्मी का ख्याल रखने को कहता है तभी अमृत गुस्से में कहता है आपने कोई गुंजाइश ही नहीं छोड़ी भाई और फतेह रोने लगता है साथ ही साथ अमृत भी रोने लगता है और उसके बाद फतेह जाकर सिमरन से करे लगता है और उनसे कहता है

सॉरी सिमरन दी मैं आपके लिए कुछ नहीं कर सका लेकिन मुझे खुशी है कि आप यहां पर हो। और उसके बाद पति खुशवीर और गुरप्रीत का आशीर्वाद लेता है गुरप्रीत उसे स्वेटर देती है और कहती है इसे रखने काम आएगी क्योंकि कनाडा में बहुत ठंड पड़ती है उसके बाद गुरप्रीत फतेह को गले से लगाते हैं और जल्दी आने को कहती है तभी खुशवीर कहते हैं अब यहां पर देरी मत करो कहीं फ्लाइट छूट गए तो इसके हीर के सारे सपने टूट जाएंगे उसके बाद बीजेपी फते को गले से लगाते हैं

और उसे अपना ध्यान रखने को कहती हैं तभी जैस्मिन कहती कि मेरी असली विदाई तो आज हो रही है फतेह रूपी बेबी और सती के पास जाता है और उन्हें सॉरी कहता है। और फिर फतह देखता है तेजो की आंखों से आंसू आ रहे होते हैं फतेह तेजो के पास जाता है तभी जैस्मिन वहां पर आती है और कहती है कि हम तुम्हारी शादी में तो शामिल नहीं होंगे लेकिन तुम्हारे लिए कनाडा से बहुत ही स्पेशल गिफ्ट भेजेंगे तेजो कहती है कि

मेरी बस यही इच्छा है कि तुम्हें जो चाहिए वह तुम्हें मिल जाए अपनी खुशी अच्छी तरह से ख्याल रखना और फिर जैस्मिन फतेह को साथ चलने को कहती है तेजो फतेह को बेस्ट ऑफ लक और अपना ख्याल रखने को कहते हैं फतेह में सारी लाता है और रोता है वहां से चला जाता है जैस्मिन नाचते हुए गाड़ी में बैठती है तेजो को रोता हुआ देख फतेह भी रो पड़ता है और जाकर कार में बैठ जाता है तेरी भी रोती है सती उसे आकर संभालती है और आज के एपिसोड का दी एंड वहीं पर हो जाता है।

कल के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि जैस्मिन और फतेह कनाडा जाने के लिए एयरपोर्ट पर निकल जाते हैं जहां जैस्मिन बहुत ही ज्यादा खुश होती है वही तेजो अपने पापा रूपी को बताती है कि उसने अगर के साथ झूठी सगाई की थी ताकि फतेह और जैस्मिन की शादी में आप लोग उसे आशीर्वाद देने के लिए जा सके जिसे सुनकर रुपी चौक जाते हैं।

Leave a Reply