Pandya Store 26th October 2021 written update
Pandya Store 26th October 2021 written update

Pandya Store 26th October 2021 written update | Pandya Store 26th October 2021 full episode today written update

Pandya Store 26th October 2021 written update || Pandya Store 26th October 2021 Today Full Episode Twists | Pandya Store 26th October 2021 Written Update | Pandya Store 26th October 2021 written update in hindi | Pandya Store Wriiten Update | Pandya Store Upcoming Twist | पंड्या स्टोर के आज के एपिसोड

Pandya Store watch full episode on Hotstar

Pandya Store 26th October 2021 written update पंड्या स्टोर के आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि धरा गौतम को देखती है तो घबरा जाती है और उसके पीछे पीछे भागने लगती है तभी शिवा देव सभी लोग मिलकर धरा को रोकने की कोशिश करते लेकिन धरा कहती है शिवा मैंने गौंबी से अग्नि परीक्षा मांगी थी इसलिए वो तुम में से किसी की बात नहीं मानेंगे मुझे ही जाना पड़ेगा उनके पास लेकिन शिवा कहता है

आप रुकिए भाभी मैं जाता हूं लेकिन धरा उन लोगों को कसम दे देती है और कहती है तुम लोग यहीं रुको मैं मेरे गौंबी को मेरे को लेकर आती हूं मैं उन्हें कुछ नहीं होने दूंगी इतने में ही दिशा आकर बताती है कि सुमन काकी पुतला और पटाखे के बीच में फस गई है

जिसे सुनकर सभी लोग और भी ज्यादा घबरा जाते हैं वही गौतम की नजर सुमन पर पड़ती है सुमन को देखकर गौतम चौक जाता है और धरा गौतम को बचाने के लिए आगे जा रही होती है लेकिन शिवा और देव धरा को रोक रहे होते हैं इधर गौतम सुमन के पास आता है और उनसे कहता है मां मैं आपको कुछ नहीं होने दूंगा आप यहां क्यों आई तभी सुमन कहती है तू मत यहां आ गौंबी तू यहां से चला जा लेकिन गौतम कहता है मैं आपको अकेले यहां पर छोड़कर नहीं जा सकता हूं मां मैं तुम्हें अपने साथ लेकर जाऊंगा

वही शिवा धरा को ठेले गाड़ी पर बैठाता है और ले कर जा रहा होता है लेकिन धरा कहती है तुम दोनों रुको और रिशिता और रावि से कहती है जितने भी यहां पर कंवल है सबको गिले करके हम लोगों पर डाल दो और उसके बाद रावि और रिशिता मिलकर उन लोगों पर भी डाल दे तभी रिषिता और रावि मिलकर चारों लोगों पर कंबल डाल देती है वही सुमन और गौंबी और पंड्या परिवार का ये हाल देखकर जनार्दन और प्रफुल्ला बहुत खुश हो रही होती है इधर कृष शिवा और देव मिलकर धारा को ठेले पर बिठाते हैं और ले कर जा रहा होता है

तभी धरा को पुरानी बातें याद आ जाती है कि एक बार उन्होंने पहले भी इसी तरह से ठेले पर बैठाया था वही गौतम देखता है कि धरा उनके पास आ रही होती है तभी गौतम देखता है किधर आ अपने देवर के साथ उसके पास आ रही होती है गौतम चिल्लाता है और कहता है तुम लोग पागल हो गए हो क्या धरा को यहां पर लेकर क्यों आ रहे हो धरा शिवा देव और कृष सभी लोग गौतम और सुमन के पास पहुंच जाते हैं हैं गौतम सुमन को गोद में लेकर गाड़ी पर बैठा देता है और फिर पीछे रह जाता है

और तभी गौतम बीच में फंस जाता है गौतम का ये हाल देखकर धरा बहुत ही ज्यादा डर जाती है वही अनीता गुस्से में कहती है अगर आज गौतम को तुम्हारी वजह से कुछ हो गया ना धरा मैं तुम्हें छोड़ूगी नहीं तभी शिवा और दे पाते हैं और गौतम को बचा कर अपने साथ ले जाते हैं सुमन अपने सभी बच्चों को गले से लगाती है तभी गौतम अपने मन में कहता है भले ही आज हमारा रिश्ता कैसा भी हो धरा लेकिन कल हमारे रिश्ते में सब कुछ अच्छा होगा क्योंकि रावण दहन के बाद सब कुछ अच्छा होता है वही धरा अपने मन में सोचती है कि मैं अपने रिश्ते पर आंख बंद करके भरोसा करती हूं

फिर ऐसा क्या हो गया जो मेरा भरोसा गौंबी पर से उठ गया गौंबी कुछ तो छुपा रहे हैं मुझसे वही रा भी अपने मन में प्रार्थना करती है हे श्री राम जय श्री रावण दहन करके आप ने रावण के मन की बुराई को कम किया था वैसे ही मेरे और शिवा के रिश्ते में आई मैल को जलाकर राख कर दो और इतना बोल कर रहा भी दिशा की तरफ देखती है वहीं यह सब देखकर जनार्दन को बहुत गुस्सा आता है और जनार्दन कहता है मेरा प्लेन इतनी आसानी से फेल नहीं हो सकता रावण दहन हो गया उसे क्या रामलीला तो अधूरी रह गई

और इस बात का फायदा मैं जरूर उठाऊंगा और इनसे बदला जरूर लूंगा और आगे का काम अब मेरे आदमी मिलकर करेंगे और उसके बाद जनार्दन अपने सारे आदमियों से मिलता है और कहता है कि पूरे सोमनाथ वासियों को भड़काऊ की रामलीला आधी रह गई और इतना धार्मिक नाटक अधूरा रह गया ये पूरे सोमनाथ के लिए बहुत ही ज्यादा अपशगुन की बात है कुछ भी हो सकता है और इतना भड़काऊ इतना भड़काऊ कि यह लोग टमाटर के साथ-साथ जूते चप्पल भी इन पंड्या परिवार के लोगों पर बरसाना शुरू कर दें

और साथ ही साथ तुम लोग झोले भर के उन्हें टमाटर दो और जनार्दन के आदमी ठीक वैसा ही करते हैं पूरे सोमनाथ को पंड्या परिवार के खिलाफ भड़का आते हैं जब पंड्या परिवार घर जा रहा होता है तभी सभी सोमनाथ के वासी मिलकर उन पर टमाटर बरसाने लगते हैं तभी सुमन उन लोगों को कहती है कि ठीक है हम लोगों ने सोमनाथ की इज्जत बचा नहीं चाहिए हमसे गलती हो गई सबके घर में कलेश होता है बस मेरा आप लोगों के सामने आ गया और आप लोगों का घर के अंदर ही है और अच्छा ही है अगर मतभेद घर के अंदर रहे तो

लेकिन आप लोगों ने ये देखा कि हमारे घर में कलेश था लेकिन आपने यह नहीं देखा कि रावण दहन के बाद कैसे मतभेद के बाद भी हम पूरा परिवार एक थे और हम यही तो आपको दिखाना चाहते थे सभी लोग टमाटर फेंकना बंद कर देते हैं और अपने अपने घर चले जाते हैं तभी जनार्दन कहता है यह तो सिर्फ एक छोटा सा किस्त पूरा हुआ है अभी तो बहुत कुछ देखना है बस आगे आगे देखो होता है क्या गौतम पंड्या देखना मैं तुम्हारे परिवार को बर्बाद करके रख दूंगा वही सुमन देव और शिवा को डांट रही होती है

और उनसे कहती है कि तुम लोग बड़े आए थे सोमनाथ की इज्जत बचाने वाले अपने ही इज्जत गवा कर बैठ गए ना तुम लोग सेना एक काम ढंग से नहीं होता है और उसके बाद सुमन सेवा से बेस्ट कपल कंपटीशन की तैयारी करने को बोलती है लेकिन शिवा कहता है यहां पर मेरी जिंदगी खत्म होने को आई है और तू तैयारी करने को कह रही है तभी सुमन कहती है तुझे दिशा के साथ इस कंपटीशन में भाग लेना ही होगा वही गौतम सोच रहा होता है कि किस तरह से वो धरा को मनाए और जैसे ही धरा कमरे में आती है

गौतम बेड ठीक करने लगता है तभी धरा कहती है तुम ये सब क्यों कर रही हो तभी गौतम कहता है ताकि तुम्हारे चेहरे पर थोड़ी सी मुस्कान देख सकूं और आज के एपिसोड का दी एंड वहीं पर हो जाता है वही कल के एपिसोड में आपसे भी देखेंगे कि धरा कहती है तुम लोग इस कंपटीशन में पार्टिसिपेट कर लो लेकिन मैं गौंबी के साथ इस कंपटीशन में पार्टिसिपेट नहीं करूंगी क्योंकि गौंबी जब तक मुझे नहीं बताएंगे कि वो लड़की कौन थी

तब तक मैं इनसे बात तक नहीं करूंगी इतने में ही अनीता आती है और कहती है कल रात गौतम मेरे साथ था और तुम जाना चाहती हो क्यों था मेरे साथ जिसे सुनकर सभी लोग चौक जाते हैं तो ये सब होगा कल के आने वाले एपिसोड में

Leave a Reply