Pandya Store 24th November 2021 full episode written update
Pandya Store 24th November 2021 full episode written update

Pandya Store 24th November 2021 full episode written update

Pandya Store 24th November 2021 full episode Written Update, written Episode On Bollyjagat.in

Pandya Store watch full episode on Hotstar

Pandya Store 23th November 2021 full episode written update पंड्या स्टोर के आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि जैसे ही गौतम देव शिवा दरवाजा खोलकर अंदर आते हैं सभी लोग जाग जाते हैं सुमन अपना सामान हाथ में लेकर बैठी होती है सभी लोग सुमन से पूछते हैं ना आप ठीक तो हो ना गौतम भी कहता है मां और यह सब कुछ क्या है तभी धारा कहती है मां यह सूटकेस आप कहीं जा रही है क्या तभी सुमन कहती है

तुम सब अपने मनमर्जी के हो गए हो ना तो मैंने भी सोचा कि मैं भी वैसे ही रहूंगी तुम सब बस अपनी मनमर्जी से करते रहना शादी करो या फिर करो सगाई तो रो सगाई जरूर जो करना है

करो सब अपने मन की करो मेरा तो कोई मान ही नहीं है तभी धरा कहती है ऐसी कोई बात नहीं है मैं इतने में ही सुमन चिल्लाती है और कहती है चुप कर तू बिलकुल चुप कर इस घर के कुएं और मेरे में कोई अंतर नहीं है ना मान ना सम्मान ना कोई औकात बस जिस तरह से कुआं एक कोने में पड़ा है उसी तरह से मैं भी एक कोने में पड़ी हूं इसलिए मैं जा रही हूं अलग घर मुझे तुम सब के साथ नहीं रहना मुझे तुम लोगों की शक्ल भी नहीं देखनी है

इतना कहकर सुमन सामान लेकर बाहर आने लगती है सभी लोग सुमन के पीछे पीछे आते हैं और रोकने की कोशिश करते हैं तभी शिवा कहते हैं मां तू रुक जा प्लीज तुझे मेरी कसम है तभी सुमन कहती है तू तो कुछ मत वही बोला मैं तेरे सामने हाथ जोड़ती हूं तू कौन होगा मुझे कसम देने वाला मैंने भी दी थी ना तुझे कसम माने तुमने तो फिर मैं क्यों मानूं तेरी कसम फुल एंड फाइनल है कि मैं जा रही हूं और मैंने ऑटो भी बुला रखी है तुम सब ने इतने तमाशे किए हैं मुझे पूरे सोमनाथ में फेमस कर दिया है

सभी लोग कहते हैं वो देखो सुमन पंड्या जा रही है जिसके बच्चे हैं ना जलसा हो बाजार हो शादी हो रामलीला हो कोई ना कोई बखेड़ा खड़ा कर ही देते हैं मैं जा रही हूं मुझे नहीं पीना है तुम्हारे साथ फिर तुम्हें मेरी जाने के बाद जो करना है करो सगाई करना है सगाई तोड़ने शादी करना तलाक करना पूरा हिंदी टीवी सीरियल बना घर में ठीक है जैसे ही शिवा और रवि सुमन को समझाने आते हैं सुमन हाथ जोड़कर कहती है तुम दोनों तो मेरे पास भी मत आना

तभी सेवा के तमा एक बार मेरी बात तो सुनो लेकिन सुमन कहती है मैं क्यों सुनूं तुम्हारी बात तुमने मेरी बात सुनी जो मैं तुम्हारी बात सुनो तुम सबके सामने हो रही थी ना सगाई की तैयारी तो फिर क्यों नहीं फूटा मुंह से क्यों मुझे शर्मिंदा किया मेरे नाक काटी सबके सामने उस लड़के का दिल दुखा जैसे लोगों को दारु पीने की लत लगती है ना तुझे तमाशा करने की लत लग गई है तभी सेवा कहता है मां कोर्ट जाने के बाद मैंने तुझे बताने की कोशिश तो की थी लेकिन तूने ही मुझे कसम दे दिया था

और उसके बाद सिवा रावि से कहते हैं और तूने कुछ क्यों नहीं बताया मां को एक बार फिर से सिवा और रावि के बीच में झगड़ा शुरू हो जाता है जिसे सुनकर सुमन को और ज्यादा गुस्सा आता है और सुमन अपना डंडा निकालती है और कहती है चुप करो तुम दोनों कुछ भी हो तुम दोनों को उसमें अपना झगड़ा घोषित नहीं होता है वैसे भी मुझे ना तुम लोगों के साथ टाइम बर्बाद नहीं करना क्योंकि मुझे बहुत दूर जाना है हरिद्वार और इतना कहकर सुमन एक बार फिर से अपना सामान लेती है

और बाहर जाने लगती हैं तभी दौड़कर धड़ा आती है और कहती है कि मां आप अपने बच्चों को इस तरह से छोड़कर नहीं जा सकती हैं आपके बच्चे आपके बिना नहीं रह सकते आप तो एक पल अपने मन को मना कर रहे भी लेंगे लेकिन आपके बच्चे टूट जाएंगे आप ही कहती हो ना कि मैं भगोड़ी की बेटी हूं छोड़कर चली गई वो तो आप ही मेरी मां हुई ना सुमन कुछ नहीं बोलती है इतने में ऑटो वाला आदमी आ जाता है सुमन उससे अपना सामान देती है

और बाहर जाने लगती है तभी धरा कहती है आपको अपने आने वाले पोती की कसम है मां आप इस घर को छोड़कर गई तो जिसे सुनकर सभी लोग चौक जाते हैं धरा कहती है कि हम में से किसी की नहीं पर इसकी तो सुन सकती हो ना आप और उसके बाद सुमन कहा धरा अपने पेट पर रखती है और कहती है यह भी आपसे कह रही है मां कि आप इस घर को छोड़कर मत जाओ धरा कहती है सुनाई दे रहा है नमक कह रही है वो आपसे कि दादी हमें छोड़ कर तभी सुमन रोते हुए कहती है

सत्यानाश हो तेरी सीरियल का मेरे सारे परिवार को ड्रामेबाज बना दिया आज के बाद कोई सीरियल नहीं देखेगा ठीक है मैं नहीं जा रही हूं लेकिन सिर्फ अपने आने वाली पोती की वजह से हां जिसे सुनकर सभी लोग खुश हो जाते हैं लेकिन और जो तुमने किया है उसकी सजा तो सबको मिलेगी सजा तो भुगतनी पड़ेगी तभी गौतम कहते हैं मां तू जो भी सजा देगी हमें मंजूर है बस तू कहीं जा मत तभी सुमन कहती है जाओ वहां जाकर खड़े हो जाओ और सभी लोग अपने पति के कान पकड़ो

जैसे ही सभी लोग कुछ बहाना बनाने की कोशिश करते हैं सुमन एक बार फिर से बाहर की तरफ जाने लगती है सभी लोग अपने अपने पति के कान पकड़ लेती है तभी सुमन कहती है गलती सिर्फ पति का नहीं है तुम पत्नियों का भी है इसलिए तुम लोग भी अपनी पत्नियों की कान पकड़ो और उठक बैठक करो तभी गौतम कहता है लेकिन धारा कैसे करेगी मां तभी सुमन कहती है भगोड़ी की बेटी तुम इधर आ जाओ मेरे पास खड़ी हो जाओ और सभी को उठक बैठक करने को कहती है लेकिन गौतम खड़ा रहता है

तभी देव कहता है गम भी आप भी शुरू हो जाओ कोई फायदा नहीं है खड़े रहने से तभी शिवा कहता है अरे रहने दे ना दे इनकी उम्र हो चली है घुटनों में दर्द हो गया तो कहीं हड्डी बड्डी खिसक गई तो तभी गौतम कहता है अगर मेरी हड्डी किस की ना तो सबसे पहले मैं तुम लोगों की हड्डी को खेत खाऊंगा जिसे सुनकर सुमन कहती अच्छा तो तुम मेरे बेटे पर अपना हुकुम चलाते हो अब तुम मुर्गा बनोगे और फिर सभी लोग उठक बैठक करते हैं

और गौतम मुर्गा बनता जिसे देखकर धरा खूब हस्ती है तभी सुमन कहती है कि आज के लिए सजा बहुत हो गई अगर तुम लोगों ने मेरी बात नहीं मानी तो इस बार मेरी जिंदगी का आखरी दिन होगा रवि कहती है कहा कि मैं आपको शिकायत का कोई मौका नहीं दूंगी है ना शिवा शिवा भी हां कहता है तभी सुमन कहती है मारकुंडी गाय तुझे क्या लगता है कि मैंने तुझे माफ कर दिया मैं तुझे माफ नहीं करूंगी मैंने भले ही तुम्हें इस घर में रहने दे दिया है

लेकिन तुम्हारी अग्नि परीक्षा बहुत लंबा चलने वाला है जब तक तुम एक अच्छी बहू एक अच्छी पत्नी साबित नहीं हो जाती और उसके बाद सभी लोग एक दूसरे को गले लगाते हैं और बहुत खुश होते हैं उसके बाद रवि दिशा के दिए हुए सारे कपड़े एक बैग में रख देती है तभी उधर जाता है और कहता है मेरे कपड़े कहां है तभी शराबी कहती है तुम्हें दिशा कर दिया वह कपड़ा पहनने की कोई जरूरत नहीं है तुम उन्हीं कपड़ों में अच्छे लगते हो कहा जाता है ना कि बंदर को टाई लगा देने पर गधेड़ा लगता है

तो बंदर बंदर ही दिखे तो ज्यादा ही अच्छा है और तुझे किसी के लिए बदलने की जरूरत नहीं है तभी राखी कहती है तुम क्या मेरे लिए बदले थे सिवा कुछ नहीं भूलता इधर धरा कैलेंडर देखकर बहुत ज्यादा खुश हो रही होती है और कैलेंडर की शादी डांस करती है अभी उधर श्री सीता आती है तभी दरार इशिता को बताती है कि आज उसके प्रेगनेंसी के पूरे 3 मंथ हो गए थे इसे सुनकर ऋषिता वे दोनों बहुत खुश होते हैं

रवि कहते हैं तब तो इस बात पर नाच गाना होना ही चाहिए जरा कहती है तुम ना एकदम मेरे दिल की बात समझ जाती हो मैं आज ही गोमती से बोल रही थी तभी कृषिता कहती थी कि मैं भी जल्दी से ऑफिस से आ जाऊंगी उसके बाद हम सभी मिलकर पार्टी करेंगे और रिशिता वहां से चली जाती है तभी सिवा आता है और रवि से कुछ बात करने की कोशिश करता है लेकिन धरा वही पर रहती है तभी शिवा धरा से कहता है भाभी मैं दुकान जा रहा हूं तभी धरा करती तुम मुझसे कहने आया था

या फिर रावि से अरे तू साफ-साफ रावि से भी बात कर सकता है लेकिन शिवा कहते है भाभी आप कैसी बातें कर रही हैं आपने बहुत मजा किया है मैं बस यह कहने आया था कि आज मैं दुकान पर अकेला हूं तो खाना भी वहीं खा लूंगा इतना कहकर शिवा वहां से चला जाता है तभी रवि कहती हेलो गधेड़ा चला भी गया कल से हमारी बात नहीं हुई है और बहाना बनाकर राधे भी शिवा के पीछे पीछे चली जाती है इधर रिश्ता ऑफिस पहुंचती है

तभी वो अपने बॉस और बुआ को बात करते हुए सुनती है जहां पर रिश्ता की बुआ उसके बहुत से कह रही होती है कि लोन का प्रेशर बनाओ ताकि पूरा पंड्या परिवार एकदम परेशान हो जाए क्योंकि मैं चाहती हूं कि पूरा पंड्या परिवार मेरी जूती चाटे मैं उन लोगों को अच्छे से सबक सिखाना चाहती हूं वह उन दोनों को बातें करते देख रिशिता बहुत ज्यादा टेंशन में आ जाती है और कहती है कहीं मैंने अपने परिवार को कोई बड़ी मुसीबत में तो नहीं डाल दिया और आज के एपिसोड का दी एंड वही पर हो जाता है

वही कल के एपिसोड में आपसे भी देखेंगे की धरा बेहोश हो जाती है गौतम धरा को हॉस्पिटल लेकर जाता है तभी डॉक्टर बताते हैं कि धरा के पेट में जो बच्चा है वो 2 महीने से बिल्कुल बड़ा नहीं जिसे सुनकर सभी लोग चौक जाते हैं तो यह सब होगा कल के आने वाले एपिसोड में

Leave a Reply