You are currently viewing Pandya Store 11th October 2021 written update | Pandya Store 11th October 2021 full episode today written update
Pandya Store 11th October 2021 written update

Pandya Store 11th October 2021 written update | Pandya Store 11th October 2021 full episode today written update

Pandya Store 11th October 2021 written update || Pandya Store 11th October 2021 Today Full Episode Twists | Pandya Store 11th October 2021 Written Update | Pandya Store Wriiten Update | Pandya Store Upcoming Twist | पंड्या स्टोर के आज के एपिसोड

Pandya Store watch full episode on Hotstar

Pandya Store 11th October 2021 written update पंड्या स्टोर के आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि गौतम और देव एक घर बैठे होते हैं तभी देव गौतम से कहता है कि पता है गोम्बी पूरी रात मुझे नींद नहीं आई तभी गौतम कहता है ऐसा क्या हो गया जो तुम्हें रात भर नींद नहीं आई तभी पहले तो देव मजाक करता है कि कल रात को छत पर क्या हो रहा था और उसके बाद देव गौतम को पंड्या स्टोर के नए डिजाइन को दिखाता है जिसे देखकर गौतम बहुत खुश हो जाता है वही रिश्ता नाश्ता लेकर आती है और पूछती है क्या हो रहा है

आप लोग क्या देख रहे हैं तभी गौतम रिश्ता को अपने नए पंड्या स्टोर की डिजाइन को दिखाता है इतने में ही देव को बैंक से कॉल आता है कि उसे लोन नहीं मिल सकता जिससे देव और गौतम परेशान हो जाते हैं तभी रिशिता कहती है कि मेरे ऑफिस में भी छोटे-मोटे स्टोर को ग्रो करने के लिए लोन दिया जाता है मैं जाकर लोन के बारे में उनसे बात करूंगी तभी एक बार फिर से देव बहुत ही रूडली रिशिता से बात करता है और उसे कहता है कि तुम कैसी बातें कर रही हो ऋषिता तुम्हें तो पता भी नहीं है कि

लोन लेने में कौन-कौन से पेपर जरूरी होते हैं तभी गौतम देव से कहता है देव ये तू किस तरह से रिशिता से बात कर रहा है तू ये तो देख कि वो हमारी प्रॉब्लम को अपनी प्रॉब्लम समझ रही है तभी रिशिता कहती है रहने दीजिए गौंबी देव को लगता है कि मैं कुछ नहीं कर सकती लेकिन अब तो मैं किसी भी हाल में लोन लेकर दिखाऊंगी इतना कहकर हृषिता वहां से चली जाती है तभी गौतम देव को समझाता है कि उसे रिसिता से इस तरह बात नहीं करनी चाहिए

उसे भी बुरा लगता है वही कृष अपने कॉलेज जाने के लिए तैयार हो रहा होता है और जल्दी से कॉलेज जाने लगता है लेकिन रावि उसे रोककर उसके मुंह में उसे खाना खिलाती है पीछे से शिवा देख रहा होता है और देखता है कि रावि कितना केयर करती है उसके घर वालों की और उसे देखकर शिवा बहुत खुश होता है तभी रावि शिवा को नहीं देखती है और कृष को सो रुपए पॉकेट मनी के लिए देती है कृष और शिवा दोनों हंसने लगते हैं

और कृष कहता है ₹100 वो भी कॉलेज की पॉकेट मनी क्या भाभी आप भी तभी रावि कृष् कहती है तो अब तेरे पॉकेट मनी के लिए मैं कहीं डाका डाल दूं क्या चल जा यहां से प्लीज जल्दी से कॉलेज चला जाता है वही रावि शिवा के पास जाती है और कहती है तू क्या हंस रहा है और तू हमारी बातें छुप-छुपकर सुन रहा था तभी शिवा कहता है और तू जो हमारी बातें छुपके सुन रही थी जो मैं मां से बात कर रहा था तभी रावि बहाने बनाकर वहां से जाने लगती है लेकिन शिवा उसे रोक लेता है तभी रावि शिवा से कहती है तूने शादी के लिए मना क्यों किया

रावि की बात सुनकर शिवा कहता है एक छिपकली दो चूहे पाल बिल्ली पाल कुत्ते पाल लेकिन गलतफहमी मत पाल मैं पहले ही तुम्हारे साथ शादी करके इसे झंझट में फंस चुका हूं और दोबारा नहीं फंसना चाहता हूं तभी रावे कहती है तो इस बार मुझ से अच्छी लड़की ढूंढ लो तभी शिवा कहता है ठीक है लड़की आने दो मैं मान जाऊंगा और इतना कहकर शिवा वहां से चला जाता है। वहीं दूसरी ओर रिशिता अपने ऑफिस में होती है और जाकर बैंक मैनेजर को लोन के पेपर दिखाती है मैनेजर भी रिश्ता को लोन देने के लिए तैयार हो जाते हैं

और रिशिता से कहते हैं आपको लोन बहुत जल्द दिलाने की कोशिश करूंगा लेकिन इसमें थोड़ा टाइम लग सकता है तभी रिश्ता मैनेजर से कहती है कि जितना टाइम हो सके आप ले लीजिए लेकिन प्लीज मेरा ये लोन पास करवा दीजिएगा इतना कहकर रिशिता वहां से चली जाती और खुशी से गौतम को फोन करने वाली होती है लेकिन फिर रिश्ता कहते नहीं अभी मैं किसी को ढिंढोरा नहीं पीट दूंगी जब तक लोन पास नहीं हो जाता मैं किसी को कुछ नहीं बताऊंगी कभी कामिनी मैनेजर के केबिन में आती है

और मैनेजर से कहती है तुमने बहुत अच्छे से काम किया और जल्द से जल्द रिशिता को पैसे दे दो लेकिन उतने ही पैसे देना जितने की दुकान की नीव खड़ी हो सके और उसके बाद तुम्हें क्या करना यह तो तुम्हें अच्छे से पता ही है। वही कृष अपने कॉलेज जा रहा होता है तभी रास्ते में कीर्ति कृष को देखती है और उसे अपने पास बुलाती है जैसे ही कृष उसके पास जाने के लिए अपना कदम आगे बढ़ाता ही है कि उसे जनार्दन का थप्पड़ और पुलिस स्टेशन की बातें याद आ जाती है और कीर्ति जैसे ही उसके पास जाने लगती है कृष कहता है आप कौन है

बहन जी आप प्लीज यहां से जाइए मैं आपके साथ कोई बात नहीं करना चाहता हूं तभी कीर्ति कहती है आई एम सॉरी कृष तुम्हारे साथ जो कुछ भी हुआ मेरे पापा ने जो कुछ भी किया तभी कृष कहता है देखो मुझे अपने आप से बहुत प्यार है इसलिए मैं तुम्हें नहीं जानता हूं और इतना कहकर कृष वहां से चला जाता है तभी कीर्ति कहती है कि मेरे वजह से कृष को कितनी पिटाई लगी थी इतनी आसानी से दोस्ती थोड़ी करेगा मुझसे थोड़ी मेहनत तो करनी पड़ेगी इस से दोस्ती करने के लिए।

वही घर में अनीता धारा को अलग-अलग कपड़े दिखाती है और उसे गरबे के लिए एक चुनने के लिए कहती है अरे का धारा से कहती है देख मैं तुम्हारे लिए यही पर लहंगे ले आई हूं गरबे के लिए क्योंकि तू शॉपिंग करने के लिए बाहर नहीं जा सकती ना तभी धरा अनीता से कहती है अनीता क्या जरूरत है तुझे इतना कुछ करने के लिए और तुम्हें पता है हर साल की तरह गौंबी ने इस साल भी मेरे लिए पहले से ही गरबे का लहंगा ला कर रख दिया है तभी अनीता कहती है पता है मैंने बहुत मिस किया तुम दोनों की दोस्ती तभी धरा कहती है हां

अब पिछली बातें याद आ जा रही है कितना मस्ती करते थे हम लोग तभी धरा की नजर रावि पर पड़ती है धरा रावि से कहती है रे रावि तू कब आई मेरी तो नजर ही नहीं गई तुझ पर देख तो गौंबी ने मेरे लिए लहंगा लाया है कैसा लग रहा है तभी रावि कहती अच्छा है पर धरा दी इस साल आप गरबा नहीं खेल सकते हो कभी धरा कहती है अरे हां मैं तो भूल ही गई और उसके बाद धरा नेता से कहती है इस साल मेरे बदले तू गोम्बी के साथ गरबे खेल लेना और मैं तीन ताली दूंगी

वही रिश्ता कल्याणी से मिलने आती है तभी रिश्ता की आवाज सुनकर कामिनी अंदर चली जाती है और कल्याणी कोर इशिता से बात करने के लिए कहती है और इशिता कीर्ति को गरबे पर अपने घर आने को कहती है तभी कल्याणी कहती है कि पिछले दिनों कितना कुछ हो गया है और तुम्हारे पापा नहीं मान पाएंगे तभी रिश्ता कहती है कि गलतफहमियां दोनों तरफ से हुई थी पापा ने सोचा कि कृष्ण कीर्ति को जबरदस्ती बाइक पर बैठाया था लेकिन कीर्ति तो अपनी मर्जी से बाइक पर बैठी थी

कृष के साथ लेकिन उसने पापा के सामने झूठ क्यों बोला उसने आपको कुछ बताया तभी कामिनी कल्याणी को इशारा करती है कि वो रिशिता से बोल दे की कीर्ति जाएगी उसके घर तभी कल्याणी रिश्ता से कहती है कीर्ति को मैं तुम्हारे घर भेज दूंगी तुम खुद ही उससे पूछ लेना मैं तो तुमसे बहुत प्यार करती हूं तेरी कोई बात नहीं डाल सकती तभी रिसिता कहती है मैं भी आपसे बहुत प्यार करती हूं।

वहीं दूसरी ओर अनिता गौतम की फोटो से बात कर रही होती है और उसे किस करती है तो रावि वहां पर आ जाती है और अनीता को रंगे हाथों पकड़ लेती है रावि को देखकर अनीता चौक जाती है रवि अनीता के हाथ से फोटो खींचती है तभी गौतम का फोटो देखकर रवि चौक जाती है और कहती है कि मैं सोच भी नहीं सकती अनीता दी कि आप इतनी गिरवी सकती हैं और उसके बाद रवि गौतम का फोटो लेकर किचन में जाती है और घर चलाती है अनिता भाभी के हाथ से फोटो खींचने की कोशिश करती है

और खींचातानी में फोटो दो भाग में बढ़ जाता है तभी रावी एक बार फिर से अनीता के हाथ से फोटो खींच कर जला देती है इतने में ही अनीता चिल्लाती है और रवि को मारने की कोशिश करती है लेकिन मारते मारते नहीं तो रोज आती है तभी रावि कहते रुक क्यों गई मारो आप मारने से रुक क्यों गई और अभी अनिता से कहती है कि आप के बुरादे इरादों को मैं कभी कामयाब नहीं होने दूंगी। और आपको गरबा में भी आने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि आपका इरादा क्या है गौंबी और धरा दि से रिश्ता रखने का ये मैं अच्छी तरीके से जान चुकी हूं

तभी अनीता रावि को थप्पड़ मारने के लिए अपना हाथ उठाती है लेकिन एक बार फिर से रावि अनीता का हाथ पकड़ लेती है तभी अनीता रावि से कहती है तू होती कौन है मुझे उस घर में आने से रोकने वाले तू धरा की बहन है या तो उसकी देवरानी है तुम्हारे खुद के रिश्ते तो तुमसे संभल नहीं रहे और आई मुझे ज्ञान देने वाली तभी रवि कहती है हां मेरा और शिवा का तलाक होने वाला है लेकिन मैं आपके इरादे कभी कामयाब नहीं होने दूंगी

वही रवि सबके लिए चाय लाती है। अनीता वहाँ आती है। रावि सोचता है कि पता नहीं अनीता जी अब यहां क्यों आई है और कौन सा नाटक करने वाली है तभी अनीता आती है और धारा को गरबे के लिए कपड़ा देती है और वहां से जाने लगती तभी धरा अनीता को रोकती है और उसे पूछती है क्या हुआ तुम गरबा नहीं खेलोगे अनीता कहती है कि नहीं मेरा मन नहीं है तुम सब खेलो तभी धरा पूछती है क्या हुआ तुमने गरबा खेलने से मना क्यों किया इससे पहले तो तुम बहुत ज्यादा खुश थी तभी अनीता कहती है

कि मेरी बहन को बहुत बड़ी गलतफहमी हुई है कि मैं गौतम पर डोरे डाल रही हूं जिसे सुनकर सभी लोग चौक जाते हैं और आज के एपिसोड कादियान वहीं पर हो जाता है कल के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि शिवा की होने वाली पत्नी गढ़वा में आती है जिसे देख कर आओगे को बहुत ज्यादा जलन फील होता है तो ये सब देखेंगे कल के आने वाले एपिसोड में।

Leave a Reply