Imlie 29th October 2021 written update
Imlie 29th October 2021 written update

Imlie 29th October 2021 written update | Imlie 29th October 2021 full episode today written update

Imlie 29th October 2021 written update | Imlie 29th October 2021 written update in hindi | Imlie 29 October 2021 Today Full Episode Twists | Imlie 29th October 2021 Written Update | Imlie Written Update | Imlie Upcoming Twist | इमली आज का एपिसोड

imlie watch full episode on Hotstar

Imlie 29th October 2021 written update सीरियल इमली के आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि त्रिपाठी निवास में गरबे की पूरी तैयारी हो जाती है और सभी लोग अपना अपना पार्टनर चूज कर लेते हैं और डांडिया खेलने के लिए दोनों ओर से लाइन लगा लेते हैं आदित्य और इमली के बीच में मालिनी आकर खड़ी हो जाती है और आदित्य को बोलती है कि आप बहुत अच्छे लग रहे हैं आदित्य बोलता है कि आप भी तभी इमली बोलती है मालिनी दिदी आप फिर से अपनी जगह भूल गई मालिनी बोलती है क्या मतलब है तुम्हारा तभी इमली कहती है आइए हमारे साथ और मालिनी का हाथ पकड़ लेती है तो मालिनी कहती है

क्या कर रही हो तुम और उसके बाद इमली मालिनी को ले जाकर अनु के पास बैठा देती है और कहती है आप यहीं पर बैठिए क्योंकि आपका नाचना गाना हमारे छोटू के लिए सही नहीं है इमली की बात सुनकर अपर्णा जी भी आगे आती है और अपर्णा जी कहती है इमली बिल्कुल सही कह रही है मालिनी आज तुम आराम से बैठकर इंजॉय करो मालिनी तभी अनु खड़ी हो जाती है और बोलती है मिसेज त्रिपाठी आपके बेटे ने एक नौकरानी को अपना बीवी क्या मान लिया आपके बाकी नौकर के भी बहुत ही मन बढ़ गए हैं और सुंदर को बोलती है कि

ये भी यहां पर सारे लोगों के साथ डांस करने चला आया सुंदर जाने लगता है तो आदित्य उसे रोक लेता है और आदित्य बोलता है कि मिसेज चतुर्वेदी ये सुंदर इस घर में काम नहीं करता ये घर को अपना मानता है और ये घर भी उसे अपना मानता है और उसी हिसाब से ये हमारा भाई है और सुंदर नौकर नहीं बल्कि हमारा भाई है और आज हमारे परिवार का गरबा नाइट है तो हम हमारे परिवार के पूरे परिवार को साथ ही होना चाहिए एक्चुअली बाहर से तो सिर्फ आप आई थी वो भी बिन बुलाए तभी निशांत बोलता है

सुंदर ब्रो आई विल प्ले सॉन्ग फॉर यू और उसके बाद निशांत गाने को स्टार्ट कर देता है और सारे लोग डांडिया स्टार्ट कर देते हैं सब लोग डांडिया डांस कर रहे होते हैं लेकिन अनु वहां पर खड़ी होती है और मालिनी के हाथ से डांडिया के डंडे ले लेती है और उसके बाद उस डंडे को चलाकर मारने वाली होती है तभी अपर्णा जी आ कर उसके हाथ को रोक लेती है तभी जल्दी से अनु डांडिया को फेंकने वाली होती है कि तब तक इमली उस डांडिया पर मारकर उसके हाथ को रोक देती है और बोलती है क्या हुआ इंग्लिश मैडम डांडिया को आपके नाजुक हाथ में नहीं रोक पाया

क्या पर कोई बात नहीं हम आपके लिए एक अच्छा सा डांडिया लेकर आते हैं और उसके बाद इमली अनु के हाथ में दो बैलून लाकर रख देती है और बोलती है कि कोमल हाथों के लिए कोमल डांडिया भी तो चाहिए ना जिसे देखकर सभी लोग हंसने लगते हैं लेकिन ये सब देखकर अनु चिढ़ जाती है लेकिन कुछ बोलती नहीं तभी इमली बोलती है चलिए डांडिया स्टार्ट करते हैं और फिर सभी लोग डांडिया खेलना स्टार्ट कर देते हैं तभी मालिनी आदित्य को इमली के साथ डांस करते हुए देखना नहीं चाहती है

इसलिए वो वहां से अलग जाकर खड़ी हो जाती है देव आ जाते हैं मालिनी के पास आकर खड़े हो जाते हैं तभी मालिनी बोलती है पापा प्लीज आपकी फेवरेट बेटी को उसके ससुराल में एक्सेप्टेंस मिल ही रही है तो आप उसके पास जाइए मेरे पास अब आप का लेक्चर सुनने का कैपेसिटी भी नहीं है तभी देव बोलते हैं कि आजकल मेरा साथ पसंद नहीं है तुम्हें और बात भी नहीं तुम्हें पता है मालू कुछ ही महीनों में सब कुछ समझ में आ जाएगा और तुझे ये भी समझ में आ जाएगा कि तेरी सोच कितनी गलत है

मालू ये जो रिश्ते हैं ना मां बाप भाई पति पत्नी ये सब अपने में ठीक है लेकिन इंसान को अपने हक की लड़ाई खुद ही लड़नी पड़ती है लेकिन सिर्फ तब तक जब तक वो इंसान खुद पेरेंट्स नहीं बन जाता और उसके बाद उसकी लग्जरी उसके साथ नहीं होती प्रायरिटी बदल जाती है बस जब पहली बार तुम अपने बच्ची को अपने हाथ में लेगी तो तुम समझ जाओगी कि तेरी खुशी तेरी नहीं है तेरी हर खुशी उसकी है जिम्मेदारी उसके लिए है

सपना भी देखेगी तो तुम खुद के लिए नहीं बल्कि उसके लिए अगर वक्त भी बदलने की चाह रखेगी तो अपने लिए नहीं उसके लिए तेरी हर खुशी तेरी हर धड़कन उसी के लिए होगा तुझे लगता है कि कोई अपनी जान से इतनी नफरत कर सकता है मतलब बच्चे कुछ भी कर सकते हैं लेकिन मां-बाप उसे कभी हर्ट नहीं कर सकते उसे सिर्फ प्यार कर सकते हैं तो तू मुझे हर्ट कर ले या हिट कर ले लेकिन मैं तुम्हें हमेशा प्यार करता रहूंगा देखो मालू मैनें अपनी लाइफ में बहुत सारी गलतियां की है

इसलिए मैं नहीं चाहता कि तुम अपनी गलतियों से सीखो तुम मेरी गलतियों को देखो और मुझसे सीखो आदित्य का दिल जीतने वाला जो रेस है उसमें तू अपने आप को खोती जा रही हो तुम्हारी जिंदगी आदित्य के लिए नहीं है सिर्फ उस नन्ही सी जान के लिए और तुम्हें खुद को उसके लिए बदलना होगा फिर से वही मालिनी को वापस लाना होगा जो कुछ समय पहले आदित्य और इमली के खुशी के बारे में सोचती थी एक बार अपनी बेटी को प्रायरिटी बना और उसके बारे में सोच फिर देखना ये सारी दुनिया तुम्हें बेकार लगने लगेगी आई प्रॉमिस यू

तभी मालिनी बोलती है कि अगर वो मालिनी पीछे छूट गई हो तो मैं फिर से आपकी बेस्ट फ्रेंड नहीं बन पाई तो तभी देव कहते हैं तुम ना सिर्फ कोशिश कर बाकी मैं हूं तुम्हारा साथ देने के लिए और फिर आगे आप सभी लोग देखेंगे कि इमली और आदित्य एक साथ डांडिया कर रहे होते हैं तभी निशांत और रूबी आ जाते हैं और दोनों को काले कपड़े से ढक देती है और उठाकर उस सरप्राइस वाले जगह पर ले जाते हैं और फिर आदित्य बोलता है कि अगर हम सही रास्ते तक नहीं पहुंच पाते तो सही रास्ते तक पहुंचने के लिए हमें परिवार की जरूरत पड़ती है

तबीयत हरीश बोलते हैं कि तेरी तो आखिर असम रह गई थी ना गिरी प्रवेश नहीं कर पाई थी इसलिए आज आदि के कमरे में तेरी गिरी प्रवेश का रास्ता करना चाहती है तभी अपर्णा जी बोलती है कि मुझे माफ कर दे इमली और फिर इमली का गृह प्रवेश होने वाला होता है तभी पीछे से मालिनी आ जाती है और बोलती है कि रुक जाएंगे तभी अपर्णा बोलती है कि मरने तुमने रसम को रुकवा दिया तभी मालिनी इंग्लिश से बोलती है कि फाइनली वह दिन आ गया जो तुम इतने दिनों से इंतजार कर रही थी मैं तुम्हारे लिए बहुत खुश हूं इमली और फिर बोलती है

कि मां बाबूजी अगर आप लोग बुरा ना माने तो मैं अपनी बहन की आरती खुद कर सकती हूं मैं चाहती हूं कि अभी तक रूम में इमली का प्रवेश मेरे हाथों से हो अपर्णा जी बोलती है कि तुम सच में इमली का आरती करना चाहती हो तभी पंकज बोलते हैं कि देखी मिली बेटा तू कितनी भाग्यशाली है आज तेरे साथ फिर ससुराल ही नहीं बल्कि मायका के परिवार का भी आशीर्वाद तुम्हारे पास है अनु कुछ बोल रही वाली होती है कि तब तक उसका हाथ देव पकड़ लेते हैं और बोलते हैं कि

अनु अब चुपचाप रहो और पीछे आ जाओ तभी अपर्णा जी बोलती है कि इतनी प्यारी बात बोलकर तुम वहां पर क्यों खड़ी हो तभी आदित्य बोलता है कि 1 मिनट इतने दिनों से इंग्लिश सिर्फ आपके आशीर्वाद का तरस रही है इमली को अपना हक पाने के लिए इतनी कोशिशों के बाद उसको किसके हाथों से गृह प्रवेश करना है ये बात इमली खुद डिसाइड करेगी और आज के एपिसोड का दिन वही पर हो जाता है वही कल के एपिसोड में आपसे भी देखेंगे कि मालिनी अनु से बोलती है कि मैं इमली के साथ रहकर वो सारे सब कुछ करती सकती हूं

जो मैं एक गेस्ट रहकर नहीं कर पाए इसके लिए मुझे आदित्य और उसके फैमिली के आगे बहुत अच्छा बनकर रहना होगा अब जो मैं करने वाली हूं ना उसे इमली को उसकी फैमिली सपोर्ट करेगी और ना ही आदित्य को और इमली आदित्य से बोलती है कि अगर फिर से हमारा पहले जैसा विश्वास हम दोनों पर ना हो जाए तब तक हम आपके कमरे में नहीं आ सकते तो ये सब देखेंगे कल के एपिसोड में

Leave a Reply