Imlie 28th October 2021 written update
Imlie 28th October 2021 written update

Imlie 28th October 2021 written update | Imlie 28th October 2021 full episode today written update

Imlie 28th October 2021 written update | Imlie 28th October 2021 written update in hindi | Imlie 28 October 2021 Today Full Episode Twists | Imlie 28th October 2021 Written Update | Imlie Written Update | Imlie Upcoming Twist | इमली आज का एपिसोड

imlie watch full episode on Hotstar

Imlie 28th October 2021 written update सीरियल इमली के आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि सभी त्रिपाठी परिवार एक साथ खड़े होते हैं इतने में ही देव आते हैं और सभी त्रिपाठी परिवार को नमस्ते बोलते हैं और मीठी भी आती है और आदित्य आता है और बोलता है प्रणाम अम्मा कैसी हैं और उसके बाद आदित्य पैर छूकर आशीर्वाद लेता है तभी मीठी बोलती है सुखी रहो बेटा आदित्य बोलता है आप कैसी हैं

अमां तभी मीठी बोलती है हम ठीक हैं बेटा आप कैसे हैं आदित्य बोलता है हम भी ठीक हैं और वही मीठी के पीछे देव खड़े होते हैं तभी आदित्य बोलता है नमस्ते पापा तभी देव बोलते हैं हाय बेटा और वहां पर अनु खड़ा होती है

पर आदित्य अनु को कुछ नहीं बोलता है और आदित्य के मोबाइल पर कॉल आ जाता है और आदित्य वहां से चला जाता है उसके बाद अपर्णा मीठी से बोलती है मीठी जी हम अपने कुछ बुरे बर्ताव के कारण कुछ दिन ऐसे हो गए थे और पता नहीं आपको क्या क्या भला बुरा सुना दिया जिसके लिए हमें माफ कर दीजिए तभी मीठी बोलती है कैसी बात कर रही है अपर्णा जी आप हमारी गुड़िया को अपना मान लिए इससे ज्यादा हमें कुछ नहीं चाहिए आप सब के खातिर हम पकवान बना कर लाए हैं आशा करते हैं

कि आपको पसंद आएगा तभी अपर्णा सी मीठी से बोलती हैं कि सुनिए इमली को कुछ बताइएगा मत क्योंकि हम उसको सरप्राइस देने वाले हैं मीठी हंसते हुए बोलती है जी तभी उधर से इमली दौड़ते हुए आती है और अम्मा अम्मा चिल्लाते हुए आकर अपने अम्मा के गले लग जाती है उसके बाद अपर्णा इमली से बोलती है कि इमली ड्राइंग रूम में सबके लिए गरबा के कपड़े रखे हुए हैं जाओ और उसे प्रेस करके वहां से ले आओ तभी इमली कहती है कि ठीक है हम अभी कर के ले आते हैं और इमली गाना गाते हुए वहां से चली जाती है

तभी त्रिपाठी जी सभी परिवार वालों को अंदर बुलाते हैं लेकिन अनु और मालिनी वहीं पर खड़ी रह जाती है और मालिनी अनु से कहती है कि मुझे तो इन लोगों की खुशी बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं हो रही है ना ही इनका सेलिब्रेशन आप कुछ सोच कर आए थे नामा क्या प्लान है आपके पास अनु बोलती है कि डोंट वरी बेटा अब मैं इस नौकरानी जूनियर के लिए एक सरप्राइज प्लान करेंगे उसके बाद इमली गरबा के सारे कपड़े लाकर रख देती है और आयरन लाने के लिए जाती है तभी वहां पर मालिनी और अनु पीछे छुपे होते हैं

अनु के साथ और अनु के हाथ में एक चूहा होता है अब मालिनी बोलती है कि मॉम यह क्या है आप चूहा लेकर क्यों घूम रही है तभी अनु बोलती है कि डोंट वरी बेटा यह त्रिपाठी निवास का खुशी का दी एंड होने वाला है यह चूहा त्रिपाठी के सारे कपड़े को डिस्ट्रॉय कर देगा चूहा काट देगा और सारा ब्लेम जाएगा नौकरानी जूनियर पर उसे बहू बनने का बहुत शौक है ना अब देखती हो कौन उसे अपनी बहू एक्सेप्ट करता है और उसके बाद अनु गरबा के सारे कपड़े पर चूहों को रख देती है और वहां से चली जाती है

तभी उधर से इमलि आ रही होती है और बोलती है यूं तो हम मान रहे थे कि स्त्री का काम करना फिर भी स्त्री का होता है लेकिन मां ने हमको बोले हैं तो हम सारे कपड़े अच्छे से इस्त्री कर देंगे और उसके बाद इमली जैसे ही कपड़ा प्रेस करने के लिए कपड़े उठाने लगती है तभी देखती है कि सारे कपड़े कटे हुए होते हैं और इमली परेशान हो जाती है और कहती है यह सब कैसे हो गया तभी उसका नजर उस चूहे पर पड़ता है और इमली बोलती है कि तुम यहां पर क्या कर रही हो

तुम हमारे परिवार वालों के कपड़े पर से हटो चूहा जी प्लीज हट जाइए यहां से इमली सोचती है कि हम तो घर इतने अच्छे से साफ किए थे फिर यहां पर चूहा आया कैसे और उसके बाद इमली उस चूहे को उतार देती है और बोलती है ना बड़े काका यह सब कपड़े को कितने प्यार से लाए थे उन लोगों के सामने हमारे जितने भी इज्जत बची हुई थी अब सब का धज्जियां उड़ जाएगा और फिर यह सब सोचकर इमली रोने लगती है तभी बाहर से बहुत ही ज्यादा चिल्लाने की आवाज सुनाई देती है इमली भाग कर जाती है तभी देखती है कि पूरे हॉल में बहुत सारा चूहा आया हुआ होता है

और सभी लोग चूहे से बहुत ज्यादा डर रहे होते हैं तभी हरीश बोलते हैं कि चूहा कहां है और चूहा से हमें क्या डरना इतने में ही हरीश के कंधे पर चूहा आकर बैठ जाता है हरीश डर जाते हैं तभी देव बोलते हैं कि अरे घर से चूहा है छोटा सा इसमें डरने की क्या बात है तभी हरीश बोलते हैं यह गणेश जी उतर जाइए और फिर चूहा उतर जाता है और माता रानी पर जितने सारे फूल होते हैं उस गेंदे के फूल को काट देता है तभी अपर्णा बोलती है कि अब इमली के सरप्राइस का क्या होगा तभी इमली वहां पर आ जाती है

और बोलती है कि क्या मतलब क्या हो जाएगा तभी अपर्णा बोलती है कि कुछ नहीं हमारे सारे प्लान को चूहे ने खराब कर दिया और उसके बाद इमली चूहे को पकड़ने लगती है तभी अनु हरीश से बोलती है त्रिपाठी जी आप अपने घर में गंदगी भर के रखे हुए हैं चूहा सारा घर में शोर मचा रहा है तभी नानी बोलती है कि हमारे गांव के चूहे भी ना लिहाज करना चाहते हैं तभी अनु बोलती है विलायती देहाती तभी नानी बोलती है कि इस विलायती चूहे को विलायती बिल्ली ही दबोच सकती हैं और उसके बाद इमली उस युवक को पकड़ने की कोशिश करते लेकिन जो हा नहीं पकड़ा पाता है

और चूहा भागकर अनु के पास चला जाता है तभी अनु बोलती है तुझे तो मैं छोडूंगी नहीं और उसके बाद अनु उस चूहे को मारने ही वाली होती है तभी वहां पर इमलिया जाती है और अनु कहा पकड़ लेती है और बोलती है कि आपने से कमजोर लोगों पर हाथ उठाने की आदत आपकी गई नहीं है अभी तक तभी अनु बोलती है कि छोड़ो मेरा हाथ और मारो चूहे को मुझे बोलती है कि आप जानते हैं कि हमारे पगडंडियों में जब किसी के नीचे चींटी आ जाता है तो सभी लोग उसे खाना खिलाते हैं और हम अपने आंख के सामने इस चूहे कहते होते नहीं देख सकते

और ना ही होने देंगे और इमली उस चूहे को पकड़ लेती है और बोलती है कि इसमें मूषक महाराज से डरना कि तभी आदित्य बोलता है कि इस मूषक महाराज का करना क्या है तभी इमली उन सारे चूहों को मिठाई खिलाते हैं और सारे चूहे आ जाते हैं और इमली के हाथ से खाने लगते हैं और यह देखकर इमली के सारे घर वाले उसका साथ देते हैं और ताली बजाते हैं तभी मालिनी अपनी मां से बोलती है कि मॉम आपने देखा ना सब कुछ ठीक हो गया तभी अनु बोलती है मालिनी बेबी ठीक से देखो ठीक हो तो गया है

लेकिन हमारे करण इस त्रिपाठी परिवार का बवाल हो गया है उसने सारे गर्म कपड़ों को करार दिया है अब क्या सरप्राइस देंगे यह लोग इस नौकरानी को तभी अपर्णा जी बोलती है इन चूहे ने तू इतना आतंक मचा दिया है हमारी गरबा नाइट की सारी तैयारियां खराब कर दी तभी इमली बोलती है अरे आप सब लोग दुखी क्यों हो रहे हैं आप सब है ना हम सब ठीक कर लेंगे तभी राधा जी बोलते हैं कि अब टाइम कहां है अगर तुझ से करवाना ही होता तो और इतना बोल कर राधा चुप हो जाती है

तभी इमली उनकी ओर देखती है और कहती है कि हमसे क्यों नहीं करवाए और दोस्तों वही कल के प्रोमो में आप सभी को देखने को मिलेगा की रात का समय हो जाता है और सारे लोग डांडिया कर रहे होते हैं तभी यह वाली और आदित्य भी एक साथ डांडिया कर रहे होते लेकिन हमारे मुंह बनाकर अकेले खड़ी होती है और अनु भी खड़ी होती है और अनु जानबूझकर सारे लोगों के बीच में चली जाती है ताकि अनु को चोट लग जाए

और सब कुछ बंद हो जाए और अनु उन लोगों के बीच में चली जाती है और उन लोगों को चोट लग जाती है तो ये सब होगा कल के आने वाले एपिसोड में

Leave a Reply