Ghum Hai Kisi Key Pyaar Meiin 8th March Written Update
Ghum Hai Kisi Key Pyaar Meiin 8th March Written Update

Ghum Hai Kisi Key Pyaar Meiin 8th March Written Update

Ghum Hai Kisi Key Pyaar Meiin 4th march Written Update
Ghum Hai Kisi Key Pyaar Meiin 4th March Written Update

Ghum Hai Kisi Key Pyaar Meiin 8th March Written Update, written Episode On Bollyjagat.in

Ghum Hai Kisi key Pyaar Mein serial watch on  Hotstar

Ghum Hai Kisi Key Pyaar Meiin 8th March Written Update गुम है किसी के प्यार में कि आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि विराट गुस्से में सई से कहता है सई जोशी तुम चली जाओ यहां से मैं तुम्हारी शक्ल भी नहीं देखना चाहता हूं तुम यहां पर किस हक से खड़ी हो तुम प्लीज यहां से चली जाओ पाखी भी कहती है विराट तुम्हारी शक्ल भी नहीं देखना चाहता सई तुम यहां पर क्यों खड़ी हो वो जाने को कह रहा है

ना यहां से तो चली जाओ ना अब और कितना परेशान करोगी विराट कहता है बस पाखी बस मेरे बिहाफ पर बोलने की जरूरत नहीं है मैं अपनी बातें खुद से बोल सकता हूं दोहराने की जरूरत नहीं है अचानक विराट को जोर से खांसी आ जाती है

सई फटाफट गिलास में पानी भर्ती है और फिर कहती है विराट से प्लीज इस पानी को पी लीजिए विराट गुस्से में ग्लास फेंक देता है और ग्लास टूट जाता है पाखी कहती है विराट खुद को संभालो इतना गुस्सा करना ठीक नहीं है विराट हाथ आगे बढ़ाता है और कहता बस चुपचाप रहो सई कहती है मैं जानती हूं विराट सर कि मेरे से बहुत बड़ी गलती हो गई आप बात बात मुझसे कहते रहे कि मुझे आप पर यकीन करना चाहिए लेकिन मैंने आप पर यकीन नहीं किया मैं आपसे हाथ जोड़कर माफी मांगती हूं

विराट सर मैं नहीं जानती कि मैंने ऐसा क्यों कर दिया अगर मेरे बस में होता तो मैंना सब कुछ पहले जैसा कर दूंगी आप की देखभाल के लिए मैंने इस हॉस्पिटल में जॉब करनी शुरू कर दी है ताकि मैं आपके पास रह सकूं वरना आपके घर वाले तो मुझे आपको देखने तक नहीं दे रहे थे विराट सर पर विराट सर मेरा यकीन मानिए मैं सिर्फ आपके पास रहना चाहती हूं विराट कहता है अच्छा सच में तो जब तुमने डाइवोर्स के पेपर पर साइन किया था क्या कहा था तुमने हमारा रिश्ता तो पहले से ही मरा हुआ था

तुम तो इतनी बड़ी डॉक्टर हो ना तो तुम्हे तो पुनर्जन्म पर भी विश्वास नहीं होगा तो फिर तुम इतनी बड़ी बात कैसे कह सकती हो और तुम कैसे सोच सकती हो कि इस रिश्ते में जरा भी कुछ भी बाकी रह गया है सब खत्म हो गया ऐसा ही मैं भी तुम्हारी सिर्फ देखभाल करने के लिए तुम्हारा होस्टल आया था तुमने क्या कहा था कि मुझे छूने तक की जरूरत नहीं है और मैंने तुम्हारे ऊपर सारे हक खो दिए है फिर अब तुम किस हक से यहां पर खड़ी हो सई वाकई में मैं तुम्हें बर्दाश्त नहीं कर पा रहा प्लीज तुम चली जाओ यहां से सई कहती है

विराट सर मैं सच कह रही हूं मेरे से जो कुछ भी हुआ बहुत बड़ी गलती हो गई और मैं अंदर से बहुत गिल्टी फील कर रही हूं पर अगर आपके लिए मैं जरा भी मायने नहीं रखती तो आप मुझे बचाने के लिए क्यों आ गए थे विराट कहता है वो इसलिए आया क्योंकि सदानंद तुम्हें किडनैप कर लिया था और वो तुम्हें मार कर मुझसे बदला लेना चाहता था अरे सदा को तो ये भी पता तक नहीं था कि हम दोनों के बीच में कुछ भी नहीं है हमारा तलाक हो चुका है

मैं सिर्फ और सिर्फ अपने फर्ज के खातिर आया था सई मेरे मन में तुम्हारे लिए कुछ भी नहीं है और वैसे भी जब कुछ है ही नहीं तो यहां खड़ी क्यों हो कितनी बार एक ही बात एक ही बोलूं सई कहती है मैं अपनी गलती को ठीक करने के लिए कुछ भी कर सकती हूं हमारे बीच में तब भी कुछ बाॕड था आप जो बोलेंगे मैं वो करूंगी विराट कहता है वाकई में तुम सच में मेरी बात मानना चाहती हो तो ठीक है तुम यहां से चली जाओ यही मेरी आखिरी इच्छा है

विराट के मुंह से ये बात सुनकर सई चौक जाती है तभी भवानी काकू कहती है हिंदी समझ में आती है ना तुझे लड़की चल जा यहां से और कितनी देर तक खड़ी रहेगी यहां पर जा ना यहां से कितनी बार विराट को एक ही बात बोलनी पड़ेगी तभी सम्राट कहता है सई प्लीज मेरे भाई को अकेला छोड़ दो तुम उस पर एहसान करो और जाओ यहां से सई अपना बैग उठाती है और चुपचाप वहां से चली जाती है विराट अपने आप को टर्न करने की कोशिश करता है

ताकि इमरजेंसी बटन दबा सके पाखी अचानक अपना हाथ आगे बढ़ा लेती है लेकिन तभी वो देखती है कि सम्राट उसे घूर रहा है तभी पाखी अपने हाथ को पीछे कर लेती है चुपचाप खड़ी रहती है सम्राट भागकर जाता है और इमरजेंसी बटन दबा देता है नर्स विराट के कमरे में आती है तभी विराट नर्स से कहता है नर्स मैं चाहता हूं कि ये सब लोग इस रूम से चले जाएं ये लोग मुझे बहुत परेशान कर रहे हैं मुझे आराम करना है और तभी नर्स सारे चौहान परिवार कहती है आप लोग प्लीज पेशेंट के रूम से बाहर चले जाइए

इनको परेशान मत कीजिए बाहर जाते ही काकू कहती हैं क्यों रे तू बड़ा अकर के आई थी यहां पर कि मैं विराट सर की सेवा करूंगी विराट की सर के पास रहूंगी क्या हुआ विराट के लिए तो तू एक अजनबी बन गई तेरी शक्ल भी नहीं देखना चाहता अब तुम दोनों के बीच में जो कुछ भी नहीं है जो कुछ भी था ना सब खत्म हो चुका है चल जाओ यहां से सई कहती है चलो ठीक है मैं अजनबी ही सही काकू लेकिन आप एक बात मत भूलिएगा कि इस अजनबी को बचाने के लिए विराट सर ने अपनी जान जोखिम में डाल दी थी

और आगे भी अब उन्हें मेरी कभी जरूरत होगी ना तो सई वहां पर जरूर खड़ी रहेगी और ऐसा ही वो मेरे साथ करेंगे इतना कहते हैं सई बाहर की कैफेटेरिया में जाती है और चुपचाप बैठ जाती है पुलकित आता है तो कहता है सई क्या बात है क्या हो गया विराट से मिली क्या तो कोई बात हुई है क्या प्लीज मुझे बताओ मुझे समझ ही नहीं आ रहा है सई कहती है मैं विराट सर से मिली और उन्होंने मेरी शक्ल तक देखने से मना कर दिया विराट सर नहीं चाहते कि मैं उनके आसपास भी रहूं

जीजू अब मेरे और विराट सर के बीच में जो कुछ भी था सब मैंने अपने हाथों से खत्म कर डाला पुलकित कहता है ऐसा कुछ भी नहीं ऐसे भी मैंने भी तो विराट को बहुत कुछ बोला है पहले मैं जाऊंगा विराट से अपने किए की सजा की माफी मांग लूंगा फिर उससे बताऊंगा कि तुमने उसके लिए क्या-क्या नहीं किया इतने बड़े-बड़े कारनामें किए तुम देखना सब कुछ पहले जैसा हो जाएगा सब ठीक हो जाएगा सोनाली चाची कहती है वाह बहिनी वाह क्या खबर दिया आपने विराट ने तो कमाल ही कर दिया

इस सई को धक्के मार कर बाहर फेंक दिया वाह यानी कि अब इस सई और विराट का किस्सा ही खत्म हो चुका है काकू कहती है हां सोनाली देखना अब सब कुछ पहले जैसा हो जाएगा हमारे घर में सिर्फ और सिर्फ खुशियां ही खुशियां रहेगी इसी के साथ एपिसोड का दी एंड हो जाता है

Leave a Reply