You are currently viewing Ghkkpm 7th October written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 7th October written update | Ghum hai kisikey pyaar meiin 7th October 2021 full episode written update
Ghkkpm 7th October written update

Ghkkpm 7th October written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 7th October written update | Ghum hai kisikey pyaar meiin 7th October 2021 full episode written update

Ghkkpm 7th October written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 7th October written update | Ghum hai kisikey pyaar meiin 7th October 2021 full episode written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin Upcoming Twist

Ghum Hai Kisi key Pyaar Mein serial watch on  Hotstar

Ghkkpm 7th October written update गुम है किसी के प्यार में कि आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि विराट पाखी से बोलता है पाखी मुझे कुछ भी खाया पिया नहीं जाएगा जब तक सई ठीक नहीं होती मैं इस बारे में सोच भी नहीं सकता हूं पाखी कहती है मैं जानती हूं कि इस वक्त तुम्हें सई की चिंता है और तुम्हें कुछ भी नहीं खाया जाएगा पर

तुम कैफेटेरिया तो चलो देखो कुछ खाना नहीं है मत खाओ लेकिन ग्रीन टी तो पी सकते हो ना विराट चौक जाता है और पाखी को पलट कर देखता है विराट याद करता है कि कैसे वो दोनों जब कैफेटेरिया में लास्ट टाइम मिले थे तो पाखी ने एस्प्रेसो आर्डर किया था

लेकिन विराट ने कहा था कि मुझे ग्रीन टी पीनी है लेकिन विराट ने कहा था कि मुझे ग्रीन टी पीनी है और विराट को सारी बातें याद आ जाती है विराट पाखी से गुस्से में कहता है कि तुम फिर से वही सब बातें लेकर बैठ गई तुम्हारा दिमाग खराब है क्या पाखी तुम्हें एक बार समझ में नहीं आ रहा मैं जानता हूं कि तुम ये सब क्यों कर रही हो पाखी कहती है तुम मुझे गलत समझ रहे हो विराट ऐसा कुछ भी नहीं है अच्छा चलो बैठकर बात करते हैं

चलो मेरे साथ मैं तुम्हें कैफेटेरिया लेकर जाना चाहती हूं पाखी विराट का हाथ पकड़कर खींचती है विराट अपने हाथ को झटक लेता है विराट कहता है बस पाखी बस हर चीज की एक लिमिट होती है और तुम शायद उस लिमिट को भूल रही हो और तुम इस समय ये भूल रही हो कि मेरा दिमाग सिर्फ और सिर्फ सई में लगा है मुझे और कुछ भी उसके सिवा नहीं दिख रहा है पाखी कहती है मैं समझ रही हूं लेकिन तुम शायद ये भूल रहे हो कि तुम शायद ये भूल रहे हो कि

तुम मेरे दोस्त नहीं बल्कि दोस्त से भी बढ़कर हो तुम ये बात मत भूलो तुम्हें कुछ भी हो गया तो मैं खुद को माफ नहीं कर पाऊंगी विराट पाखी का हाथ पकड़ लेता है और कहता है पाखी अगर तुम मेरे लिए दिल से कुछ करना चाहती हो ना तो गणपति बप्पा के सामने जाकर हाथ जोड़ो और उनसे प्रार्थना करो कि वो मेरी सई को मुझे वापस लौटा दे मेरी सई ठीक हो जाए मेरी सई को अगर कुछ हो गया ना पाखी तो मैं जीते जी मर जाऊंगा मैं खुद को कभी माफ नहीं कर पाऊंगा सच कह रहा हूं

तभी वहां पर सम्राट आ जाता है और विराट को पाखी का हाथ पकड़े देख कर चौक जाता है सम्राट कहता है बाह बस यही देखना बाकी रह गया था पाखी सम्राट को देखती है और चौक जाती है और पाखी विराट से कहती है सम्राट तभी विराट पाखी का हाथ छोड़ देता है सम्राट कहता है क्यों क्या हुआ बहुत परेशान लग रही हो और तू ये घड़ियाली आंसू क्यों रो रहा है विराट अब इन आंसुओं को बहाकर तू क्या साबित करना चाहता है तभी पाखी कहती है

तुम देख नहीं रहे हो सम्राट विराट कितना हरास है मैं बस उसे सांत्वना दे रही थी उससे कह रही थी कि अपनी उम्मीद ना छोड़े सम्राट कहता है वाह मतलब तुम दोनों का बढ़िया है कैफे में तुम हरास हो जाती हो तो विराट अपना हाथ तुम्हें दे देता है इधर अस्पताल में विराट हताश हो गया तो तुमने हाथ थमा दिया मतलब कुछ भी करना है और दोनों को ना जो करना है करो मगर इतना तो ध्यान रखो कि यह अस्पताल है यह तुम लोगों का ड्रामा यहां पर नहीं चलेगा और सम्राट विराट से कहता है

और तू क्यों रो रहा है तुझे क्या हो गया है कंसर्न साइन करने के लिए तुझे यहां पर बुलाया था ना कंसर्न साइन हो गया अब तू एक काम कर जा चला जा यहां से अब तेरी यहां कोई जरूरत नहीं है विराट तू यहां रहकर मेरा टाइम वेस्ट मत कर तू जा यार तू बस जा विराट कहता है अगर सब को मुझे विलन बनाने का इतना ही शौक है तो बनाता रहे मुझे फर्क नहीं पड़ता पर सच्चाई यही है कि मुझे वाकई में सई की बहुत परवाह है और मैं बस पाखी से ये कह रहा था कि

वो भी गणेश जी के आगे प्रार्थना करें कि सई वापस आ जाए तुझे ताना मारना है तो मार जीवा नहीं मानना तो मत मान उधर घर के सभी लोग बहुत ज्यादा परेशान होते हैं भवानी काकु कहती हैं चाहे बेशक सई बहुत ही ज्यादा अरियल जिद्दी जैसी भी हो लेकिन वो इंसान गलत नहीं है इंसान को बिल्कुल सही थी और अगर हम दोनों कुछ बोल भी देते हैं तो इसमें इतना भी बुरा क्या मानना तभी करिश्मा कहती है ऐसा कुछ भी नहीं है काकू जबसे विराट दादा सरप्राइज पार्टी देकर वापस आए हैं

ना तब से दोनों के बीच में लड़ाई चल रही है विराट दादा ने तू महाबलेश्वर में भारी इंतजाम किया था फर्स्ट एनिवर्सरी का लेकिन सई भाभी ने उनकी बहुत इंसल्ट की थी और बस उनसे लड़ने में लगी हुई थी तभी निनाद दादा कहते हैं चुप करो करिश्मा थोड़ी तो शर्म करो एक इंसान जिंदगी और मौत के बीच में झूल रहा है और तुम यहां ताने मारने में लगी हो कम से कम आज तो चुप हो जाओ अस्पताल में पुलकित ऑपरेशन थिएटर से बाहर निकलता है तो सम्राट से कहता है मेरे पास तुम ही मेरे परिवार हो सई को ब्लड की बहुत जरूरत है

उसकी हालत बहुत क्रिटिकल है उसे ब्लड चाहिए ही होगा तभी विराट पूछता है पुलकित से कि अब कैसी है मुझे बहुत घबराहट हो रही है सई ठिक तो हो जाएगी ना तभी पुलकित विराट की बात सुनकर कहता है सई ठीक हो जाएगी तुम्हें घबराहट हो रहा है

विराट तुम्हें इतनी घबराहट क्यों हो रही है और अब सई की चिंता तुम इतनी क्यों कर रहे हो तुम्हें तो कोई फर्क नहीं पड़ता ना यही कहा था ना तुमने देवी से मैंने सई के जाने से पहले भी उससे कहा था विराट की सई किए जाने से तुम पर ही नहीं बल्कि पूरे परिवार को फर्क पड़ेगा और वो फर्क अब दिखाई भी दे रहा है देख रहे हो ना

देवी की क्या हालत हो गई सई से जो जो प्यार करता है उनकी हालत क्या हो गई है अरे रोते-रोते बेहाल हो गए हैं और तुम यहां पर ये सब ड्रामा करने में लगे हो अगर सई को कुछ हो गया नगरा उसके जिम्मेदार सिर्फ तुम होगे सिर्फ तुम विराट चुप रहता है और आज का एपिसोड का दी एंड वहीं पर हो जाता है वही कल के एपिसोड में आपसे भी देखेंगे कि सई कि सर्जरी सक्सेसफुल होती है

और विराट कहता है कि मैं नहीं चाहता कि सई की तबीयत और बिगड़े इसलिए मैं सई को अपना चेहरा नहीं दिखाऊंगा विराट ओटी के बाहर सई को खिड़की से देखता रहता है लेकिन तभी सई अपनी आंख खोल देती है ये सब देखेंगे कल के एपिसोड में

Leave a Reply