Ghkkpm 29th October written update
Ghkkpm 29th October written update

Ghkkpm 29th October written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 29th October written update | Ghum hai kisikey pyaar meiin 29th October 2021 full episode written update

Ghkkpm 29th October written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 29th October written update | Ghum hai kisikey pyaar meiin 29th October 2021 full episode written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin Upcoming Twist | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 29th October written update in Hindi

Ghum Hai Kisi key Pyaar Mein serial watch on  Hotstar

Ghkkpm 29th October written update गुम है किसी के प्यार में कि आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि विराट को नींद नहीं आती है और उसे बहुत बेचैनी लग रही होती है और विराट अपने मन में कहता है कि मैं सई को बहुत ज्यादा मिस कर रहा हूं मैं तो सो ही नहीं सकता और उसके बाद विराट उठता है और एक एक करके सारे तकिए को बीच में लगा देता है इधर सई को भी नींद नहीं आती सई कहती है

पता नहीं क्यों मैं विराट सर को इतना मिस कर रही हूं और फिर वो भी एक-एक कर तकिए को लगाती है और सो जाती है विराट नीचे आता है और चुपचाप सई को सोते हुए देख कर बड़ा मुस्कुराता है तभी पीछे से अश्विनी काकु आ जाती है

और विराट से कहती है गोरु तू यहां सई के कमरे के बाहर क्या कर रहा है चल यहां से तू सई को बहुत मिस कर रहा है ना इसलिए तू चुपचाप उसे देख रहा था विराट घबरा जाता है और कहता नहीं आई ऐसा कुछ भी नहीं है मैं तो बस ये देखने आया था कि कहीं उसकी तबीयत ना खराब हो जाए आई कहती है उसकी तबीयत बिल्कुल ठीक है उसको तो कोई परेशानी नहीं है पर मुझे पता है मेरा गोरू सई को कितना प्यार करता है और उसे कितना मिस करता है लेकिन सुन अब तुझे ये बात अपने मुंह से बोल नहीं पड़ेगी

वरना मुझे तुझसे कोई बात नहीं करनी चल जाए यहां से विराट कहता नहीं आई प्लीज आई कहती है मुस्कुरा तो तू बहुत रहा है मुझे पता है कि तू सई से कितना प्यार करता है विराट कहता है मैं सई को अपने साथ महाबलेश्वर लेकर गया था फर्स्ट एनिवर्सरी मनाने के लिए लेकिन उसने उसने मेरी फिलिंग्स की परवाह तक नहीं कि आई तभी आई कहती है बेटा थोड़ा सा वक्त तो दे वो दूसरों की फीलिंग समझती है पर खुद की फीलिंग नहीं समझ पाती है

विराट कहता है वक्त देने के चक्कर में आई कहीं ऐसा ना हो जाए कि वक्त ही मेरे हाथ से निकल जाए तभी आई कहती है बेटा कहीं ना कहीं मुझे ऐसा लगता है कि सई को ऐसा लगता है कि तू अभी भी अपने अतीत से जुड़ा हुआ है शायद इस वजह से वो तुझे अपने करीब आने ही नहीं देती विराट कहता है मैंने हजार बार उसको समझाया है कि मुझे पाखी से कोई लेना देना नहीं है लेकिन वो है कि मेरी बात सुनने को तैयार ही नहीं होती आई कहती है इसीलिए मैंने तुम दोनों को अलग रखा है ताकि वो अपने फैसले खुद ले सके उसे खुद इस बात का एहसास हो कि

वो तुमसे कितना जुड़ी हुई है बस थोड़ा सा इंतजार कर ले बेटा देखना उसे खुद एक दिन एहसास हो जाएगा विराट कहता है आई आज मुझे आपसे बात करके कैसा लग रहा है ना मैं आपको बता भी नहीं सकता मुझे बहुत हल्का फील हो रहा है आई कहती है बस तुझे हल्का फील हो रहा है ना तो थोड़ा सा पेसेंस और रख ले मेरी बातों की यकीन कर बेटा धीरे-धीरे सब कुछ नॉर्मल हो जाएगा और हां तुझे कोई भी चीज बोलने की जरूरत नहीं है देखना मंजिल खुद सफर तक आएगी विराट कहता है

आई थैंक यू सो मच मैं जानता हूं कि आपने जो कुछ भी किया है मेरे भले के लिए किया है विराट खुशी खुशी अपनी आई को गले लगा लेता है तभी आई कहती है अगर कुछ ही दिनों में तेरे और मेरे बाबा को 37 साल पूरे हो जाएंगे लेकिन ना हम दोनों के बीच में कभी प्यार उमड़ा और ना ही हम दोनों के बीच में दोस्ती हुई विराट अपनी मां का दर्द समझ जाता है और समझ जाता है कि वो कितनी तकलीफ में है विराट अपनी मां को बहुत प्यार करता है इधर सम्राट गाड़ी में बोलता है पाखी अभी तक तुम्हारी मां थी इसलिए मैंने कुछ बोला नहीं पर

अब मैं तुमसे साफ-साफ बोलना चाहता हूं कि तुम सई से इतनी बदतमीजी से बात क्यों करती हो तभी पाखी कहती है मैं बदतमीजी से बात करती हूं मतलब सुबह से हम लोग गणेश विसर्जन की तैयारी में लगे थे उसके बाद तुम सई के कमरे में चले गए उसका हालचाल जानने के लिए हम दोनों के पास तो एक दूसरे के लिए टाइम ही नहीं है उसके साथ तो तुम्हारी मॉर्निंग बहुत जबरदस्त है पर मेरे बारे में मेरे साथ ये सब क्यों नहीं है तुम क्या चाहते हो मैं हर चीज इग्नोर करती रहूं सम्राट कहता है कि

मैं तुम्हें पहले भी बता चुका हूं कि सई मेरी छोटी बहन है अगर तुम्हारी छोटी कोई बहन होती और उसके साथ कोई इतना बड़ा हादसा होता तो तुम उसको हौसला बढ़ाने नहीं जाती तुम उससे ये नहीं पूछती कि तुम कैसी हो अगर नहीं पूछती तो ये बहुत खुदगर्जी कही जाएगी वैसे मैं तुम्हें बता दूं कि मैं फैमिली मैन हूं और मेरे लिए अपने परिवार से बढ़कर कुछ नहीं है इसलिए तुम्हें मेरे परिवार को अपनाना होगा और उसमें सही भी आती है अगर तुम हमारे रिश्ते को स्ट्रांग करना चाहती हो तो कम से कम मेरी फैमिली को तो अपना तुम तो उनसे ठीक से बात तक नहीं करती हो

मेरी समझ में नहीं आता है कि मैं तुम्हें कैसे समझाऊं पाखी सम्राट की बातों से पाखी का कोई फर्क नहीं पड़ता और वो अपनी आंख बंद करके सो जाती है इधर सई को भी रात में बेचैनी होती है वो अपनी आंख खोलती है तो सामने विराट मिलता है विराट कहता है ओ मैडम नींद नहीं आ रही क्या मैंने तो तुम्हें पकड़ लिया तुम मुझे बहुत मिस कर रही हो है ना यही बात है ना वैसे तुमने इतने छोटे से बेड में ये एलओसी क्यों लगा रखा है यार हमारे कमरे का बेड बड़ा था ये तो छोटा है फिर क्यों लगाया हुआ है

सई तभी सई कहती है अगर आप बोले तो इस एलओसी को हटा दूं विराट कहता है हां बिल्कुल एक-एक करके इस एलओसी को खत्म कर दो सई जैसे ही पहला तकिया उठाती है कि उसके सिर में दर्द शुरू हो जाता है सई उठकर बैठ जाती है और कहती है हे भगवान सब कुछ मेरा सपना था विराट सर मेरे सपने में क्यों दिख रहे तभी आई कहती है अरे तुम सोए नहीं अभी मैं तुम्हें देखने आई थी तो तुम सो रही थी अब तुम उठ कर बैठ गई हो तुम्हारी तबीयत तो ठीक है ना तुम्हें कोई तकलीफ तो नहीं है सई कहती है नहीं आए कुछ भी नहीं है बस नींद नहीं आ रही थी

तभी आई कहती है बड़ा अजीब तरीका है भई उधर विराट को नींद नहीं आ रही उसके लिए सब कुछ नया है ना इधर तुम्हें भी नींद नहीं आ रही और मैं समझ सकती हूं विराट की तुम्हें आदत हो गई है ना इसलिए कमरा थोड़ा खाली खाली लग रहा होगा सई कहती नहीं आई ऐसा कुछ भी नहीं है विराट सर कि मुझे कोई आदत नहीं हुई है आई कहती है अच्छा फिर तुम क्यों नहीं सो रही थी तुम्हें नींद क्यों नहीं आ रही थी चलो अब जल्दी से सो जाओ सई अश्विनी काकु का हाथ पकड़ लेती है और कहती आई मैं आपकी गोद में सिर रख लूं

और उसके बाद अश्विनी का कुछ सही को अपनी गोद में सुलाती है तभी सई कहती है आई मुझे ना कल आपके हाथ की साबूदाने की खिचड़ी खाने का मन कर रहा है आप बनाएंगे ना आई कहती है ठीक है अब तुम सोने की कोशिश करो सुबह साबूदाने की खिचड़ी बनाने के लिए अभी मुझे साबूदाने को फुलने को देना होगा इसलिए तब तक तुम सो जाओ सुबह तुम्हें खिचड़ी मिल जाएगी सुबह सई उठती है तो कहती है अरे देवी ताई आप इतनी सुबह सुबह तभी देवी दाई ताई कहती है मैं तुझसे मिलने आ गई

और कुछ दिन तेरे साथ ही रहूंगी और हॉस्पिटल में पता है मैंने वीरू को बहुत डांटा था बहुत तेज और तभी विराट आ जाता है और सिर पकड़ लेता है और सोचता है हे भगवान देवी ताई ये सारी बातें क्यों कर रही है सई कहती है शैतान का नाम लिया शैतान हाजिर आइए आपको डांट नहीं आपको तो पनिशमेंट मिलनी चाहिए और इसी के साथ आज के एपिसोड का दी एंड हो जाता है

Leave a Reply