You are currently viewing Ghkkpm 24 September written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 24 September written update | Ghum hai kisikey pyaar meiin 24th September 2021 full episode written update
Ghkkpm 24 September written update

Ghkkpm 24 September written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 24 September written update | Ghum hai kisikey pyaar meiin 24th September 2021 full episode written update

Ghkkpm 24 September written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin 24 September written update | Ghum hai kisikey pyaar meiin 24th September 2021 full episode written update | Ghum Hai kisikey pyaar meiin Upcoming Twist

Ghum Hai Kisi key Pyaar Mein serial watch on  Hotstar

Ghkkpm 24 September written update गुम है किसी के प्यार में के आज के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि सई पुलकित के साथ डीएन सर से मिलने जाती है और कहती है सर मैं अपनी ट्रांसफर सर्टिफिकेट के बारे में बात करने आई हूं डीएन सर कहते हैं तुम्हारा ट्रांसफर कर दिया गया है सई पर एक बात बताओ क्या यही एक ऑप्शन है तुम्हारे पास कोई और ऑप्शन नहीं है पुलकित कहता है सर मैं कब से इसको यही समझाने की कोशिश कर रहा हूं पर सर इसे समझाना बेकार है

मुझे लगता है कि सई ने अपना मन बना ही लिया है और वो यहां से अब जाएगी डीएन सर सई से कहते हैं तुमने अपना मन बना ही लिया है सई तो तुम्हें रोकना बेकार है ये लो तुम्हारा ट्रांसफर सर्टिफिकेट इसको संभाल कर रखना गडचिरोली के पास जहां तुम्हें मौका मिले उस कॉलेज में एडमिशन ले लेना बट मैं तुम्हें खोना नहीं चाहता सई पर क्या करूं सई कहती है सर आप मेरी बात समझने की कोशिश कीजिए मुझे नागपुर से जाना होगा

अगर मुझे जिंदगी में आगे बढ़ना है तो मेरा यहां से जाना जरूरी है पुलकित कहता है तुम्हारी प्रॉब्लम सिर्फ और सिर्फ चौहान निवास है और कोई प्रॉब्लम नहीं है तुम्हें सई तो फिर क्यों जाना चाहती हो तुम यहां से डीएन सर कहते हैं अगर ऐसी बात है तो तुम नागपुर में रह सकती हूं सई कोई भी किराए का मकान बहुत ही आसानी से मिल जाएगा यहां रहकर इस कॉलेज में पढ़ाई कर सकती हो

पुलकित कहता है मेरे दोस्त का घर कॉलेज के पास है खाली है तुम बोलो तो मैं बात कर सकता हूं तो तुम उसके घर में किराए से रह सकती हो सई तुम्हें कहीं जाने की जरूरत नहीं है सई कहती है पुलकित जीजू ये बहुत बड़ा फैसला है और इतना बड़ा फैसला इतनी आसानी से नहीं ले सकती मुझे थोड़ा वक्त दीजिए और अगर ऐसी बात है तो आप अपनी दोस्त से बात जरुर कर लीजिएगा पर दो-तीन दिन का वक्त मुझे दीजिए मैं डिसीजन सोच समझकर आपको बताऊंगी

पुलकित कहता है ठीक है सई जैसा तुम ठीक समझो पर मैं अपनी दोस्त से बात करके रख लूंगा इधर घर के जैसे ही घंटी बजती है तो करिश्मा कहती है लगता है गणपति बप्पा आ गए पाखी बिना कुछ सोचे आरती की थाल उठाती है और जाती है दरवाजा खोलने के लिए जैसे दरवाजा खोलती है तो सामने सई खड़ी रहती है अश्विनी काकू कहती हैं बहुत सही टाइम पर आई है बेटा अभी तो गणेश जी आए भी नहीं है जाओ जल्दी से हाथ मुंह धो के अच्छे कपड़े पहन के नीचे आ जाओ

इधर सम्राट और विराट गणेश जी की मूर्ति लेकर अंदर आ रहे होते हैं तभी कुछ बच्चे गार्डन एरिया में खाना खा रहे होते हैं विराट उनसे बातचीत करता है और उनमें से एक लड़की के साथ बहुत अच्छे से डांस भी करता है सबकुछ खुशनुमा माहौल हो जाता है विराट और सम्राट जैसे ही अंदर आते हैं डोरबेल बजाते हैं तो पाखी सोचती है विराट जरूर मूर्ति लेकर आया होगा मुझे तो सबसे पहले आरती करनी होगी इसी बहाने मैं विराट कि भी आरती कर लूंगी

पाखी जाती है आरती लेकर जैसे ही आरती करने वाली होती अश्विनी काकू कहती हैं रुक जाओ पाखी तुम आरती मत करो देखो विराट मूर्ति लेकर आया है और उस हिसाब से वो सई का पति है तो पत्नी पति की आरती करें वह ज्यादा सही लगता है और आज के दिन पत्नी को भी पति की आरती करनी चाहिए इसलिए आरती की थाल तुम सई को दे दो सई आरती करेगी और विराट को अंदर लेकर आएगी सई भी खुश हो जाती है

और खुशी-खुशी आरती की थाली लेते हैं सई पहले विराट के पैर दूध से धोती है फिर उसको पानी से धोती है विराट के पैरों पर पुष्प अर्पण करती है और फिर माथे पर टीका लगाती है विराट भी खुश होता है सई उत्साह को देखकर फिर सई विराट की आरती उतारती हैं दोनों लोग बहुत खुशी-खुशी अंदर आते हैं सई और विराट मिलकर गणपति जी की और स्थापित करते हैं और फिर उनके आगे हाथ जोड़कर प्रार्थना करते हैं तभी अश्विनी काकू कहती हैं

पाखी वाकई में तुम्हारे हाथ में जादू है तुमने आज वाकई में खाना बहुत टेस्टी बनाया था गणेश जी का प्रसाद यानी कि मोदक भी तुम ही बनाना पाखी कहती है थैंक यू सो मच अश्विनी मामी आपने मेरी कद्र की मोदक तो मैं ही बनाऊंगी कम से कम गणेश जी मेरा मोदक खाने से मना नहीं करेंगे जैसे घर के बाकी लोग मेरे हाथ का खाना खाने से मना कर देते हैं सम्राट कहता हैं पाखी तुम फिर बहस करने लगी तुम्हें क्या ताने देने की आदत हो गई है क्या या शुरू से तुम ऐसे ही हो पाखी कहती है

नहीं सम्राट तुम मुझे गलत समझ रहे हो ऐसा कुछ भी नहीं है मैं तो सिर्फ ये कहना चाह रही थी कि सई सिर्फ अपने आवा के हाथ से मोदक खाती है या विराट के हाथ का बना हुआ मोदक खाती है विराट ने उसके बर्थडे पर अपने हाथों से मोदक बनाया था उसने बहुत चाव से खाया अब जब उसको इन्हें दो हाथों का मोदक पसंद है तो मेरे हाथों की बनाई हुई मोदक तो सई बिल्कुल भी नहीं खाएगी मैं बस यही कहना चाह रही हूं और कुछ नहीं और विराट कहता है

सम्राट तुझे पता भी नहीं है कि मैं कितना ज्यादा टैलेंटेड हूं मैं जो मोदक बनाता हूं ना क्या लाजवाब मादक बनाता हूं आज के मोदक मैं बनाऊंगा और तुम खाना फिर बताना कि मेरा मोदक कैसा बना पाखी कहती है सम्राट तुम तो इस घर के बड़े बेटे हो ना तो फिर तुम गणेश जी को लेकर क्यों नहीं आए विराट क्यों लेकर आया बस मैं ये पूछना चाह रही थी सम्राट चौक जाता और कहता है पाखी तुम ऐसा कैसे बोल सकती हो भवानी काकू कहते हैं बहुत खुशी की बात है

पत्रलेखा कि तुम्हें अपने पति की इतनी परवाह है कल की ये पूजा सम्राट ही करेगा देखना तुम सम्राट कहता है हां बड़ी मामी कल की पूजा मैं करूंगा और कोई नहीं तभी पाखी विराट को देखती और मन ही मन सोचती है विराट अब तुम देखना कल की पूजा में सम्राट के साथ करूंगी तब तुम्हें एहसास होगा कि अकेलापन किसे कहते हैं और तुमने किसको खो दिया बस विराट को घूरते घूरते आज के एपिसोड का दी एंड हो जाता है

कल के एपिसोड में आप सभी देखेंगे कि सई देवी ताई को अपना राज बता देती है कि वो घर छोड़ कर जा रही है पर देवी ताई से कहती है कि किसी भी हाल में आप ये बात किसी के सामने मत बोलिएगा तभी वहां पर विराट आ जाता है सई हरबड़ा जाती है विराट समझ ही नहीं पाता है कि ये दोनों आपस में क्या बातें कर रही थी तो ये सब होगा कल के आने वाले एपिसोड में

Leave a Reply